Soprano hunt

A broken shard of the mirror stuck in his throat Agitated he frantically searched for the maniac The Maniac only could fix that broken mirror   He searched the vast wilderness of his father Surrendered, he frantically cried long Sitting on logs of firewood singing merciful ballads   Scribbling nonsense in a clean blanket Saw a dream [...]

Advertisements

कालघर का स्वप्न

कूड़े के ढेर में कोई चुने नोट कोई चुने कीमती नग जब दोनों हार गए तब समझे ये नहीं है उनका घर जहां से वो लौटे थे वो था एक कलाकार का महल जो अब कहीं ना आये नज़र थक हार के लौट गए माता के घर एक अनोखा  आखिरी घर भाइ के अलावा सब  स्वप्नसार [...]